Google+ Followers

बुधवार, 11 मार्च 2015

'अजीब है ये जिन्दगी'



अजीब है ये जिन्दगी
सलीब है ये जिन्दगी

न जान तू किस खता की
नसीब है ये जिन्दगी

इश्क जिसे है, उसी की
रकीब है ये जिन्दगी

गिनी जु सांसे, बहुत ही
गरीब है ये जिन्दगी

निकाह मौत तुझसे औ

हबीब है ये जिन्दगी


                     - ''जान'' गोरखपुरी
                       

योगदानकर्ता