Google+ Followers

शुक्रवार, 23 जनवरी 2015

मुझे मुक्त कर दो!


                                                                    मुझे मुक्त कर दो!
मेरे अपनों से,
दुनियाभर के सपनों से,
 माँ की मुरादों से ,
बीवी की फ़रमाईश से,
रिश्तेदारों की  आजमाईश से । 


मुझे मुक्त कर दो! 
 बैंक के पासबुक से , 
बिजली के बिल से,
गैस के रिफिल से,
दुनियाभर के उधारो से,
राशन की कतारों  से। 


मुझे मुक्त कर दो!
 ख्वाबों से ,
खयालों  से, 
 किताबों  से ,
सवालो से,
बवालों से। 


मुझे मुक्त कर दो! 
डायरी से ,
शायरी से ,
गीत से ,
ग़ज़ल से,
 कविता से। 


मुझे मुक्त कर दो!
गद्द से,
पद्द से ,
छंद से,
चौपाई से ,
रुबाई से । 


मुझे मुक्त कर दो! 
प्यार से ,
व्यापार  से ,
व्यवहार से ,
सदाचार से ,
 अनाचार से । 


मुझे मुक्त कर दो!
वफ़ा से ,
बेवफाई से ,
वस्ल से ,
तन्हाई से ,
रहनुमाई से । 



मुझे मुक्त कर दो!
हिन्दू से ,
मुस्लिम से ,
सिख से,
ईसाई से , 
खुदाई से !



 और अंत में.…
मुझे मुक्त कर दो!
 गूगल से ,
 व्हाट्सएप्प से,
 फेसबुक से ,
ट्वीटर ,  
 ब्लॉगर से । 








  






योगदानकर्ता